बिहार देगा 10 करोड़ और तिरुपति 1 अरब "अयोध्या राम मंदिर".

बिहार देगा 10 करोड़ और तिरुपति 1 अरब "अयोध्या राम मंदिर".

बिहार के पास तब पैसा नहीं था जब बिहार बाढ़ में डूब रहा था लेकिन राम मंदिर बनने के लिए अयोध्या को 10 करोड़ रूपए देने का वादा कर रहा है पटना का महावीर मंदिर .

इन दिनों देश की बात करें तो पुरे देश भर में राम मंदिर और बाबरी मज्जिद को लेकर माहौल गरमाया हुआ है. 9 नवम्बर 2019 को अयोध्या राम मंदिर को लेकर आये फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया जिसमे सुप्रीम कोर्ट ने कहा की अयोध्या में राम मंदिर बनेगा और मज्जिद के लिए दूसरी जगह दी जएगी. यानी सालों या यूँ कह लो कि दशकों से चले आ रहे राजनीतिक मुद्दे की बहस बने अयोध्या में राम लला का मंदिर और बाबरी मज्जिद पर लगता है पूर्ण विराम लग गया. वही सुप्रीम कोर्ट का फैसला सुनते ही राम भक्तों ने तो जमकर जेकारे लगाये और लम्बी-लम्बी रैलियां निकाली गई. वही कुछ मुस्लिम लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को न मानते हुए कहा की हम को खैरात में मिली ज़मीन नहीं चाहिये. हम अपने अल्लहा की मज्जिद ख़ुद बना सकतें हैं. 

ये तो रही पक्ष और विपक्ष की बातें, लेकिन जब से राम मंदिर बनने की बात हिन्दुओं में फैली है तब से लोगों के मन में उत्साह भरपूर भरा हुआ है. वही अयोध्या में राम मंदिर बनवाने के लिए तिरुपति बालाजी मंदिर ने 1 अरब रूपया मंदिर बनवाने के लिए देने का फैसला करा है. वही बिहार के पटना के महावीर मंदिर ने भी आगे आते हुए 10 करोड़ रूपए मंदिर को बनाने के लिए देने का अपना फैसला सुनाया. और राम मंदिर को बनाने का काम शुरू करने को कहा. इतना ही नहीं जब राम मंदिर बन जायेगा तब बिहार के पटना में महावीर मंदिर की तरफ से प्रतेक दिन भंडारे का अयोजन भी करा जायेगा. जिससे लाखों लोगो को रोटी नसीब हो सकेगी.

अब सवाल ये उठता है की भारतीय मंदिरों में जब अरबों, करोड़ों की धनराशी मौजूद है तो आखिर देश में इतनी महगाई क्यों? मंदिरों के नाम पर आज भी काला धन बहुत बड़ी मात्र में भारत में ही रखा हुआ है. जिसको आस्था और भक्ति के मापदंड पर नापा जाता है. और आखिर जब इन पैसों का किसी पब्लिक डोमेन में खर्च नहीं किया जाता तो ये पैसा जाता कहाँ है? क्या भारतीय मंदिरों में मौजूदा धनराशी को देश की प्रगति के लिए खर्च करना गलत होगा. अगर राम मंदिर नहीं बनता तो क्या तिरुपति के बालाजी महाराज मंदिर से ये 1अरब की धनराशी मंदिर को बनाने की जगह विकास के नाम पर नहीं दी जा सकती.

बिहार के पटना में महावीर मंदिर से 10 करोड़ रूपए धनराशी राम मंदिर को बनाने में दी जा रही हैं. अभी कुछ महीने पहले जब बिहार का पटना पूरा जलमग्न हो गया था बाढ़ की वजह से तब इस धनराशी को मुसीबत में फसे लोगो की सहयता के वक़्त खर्च करना देशद्रोही कहलाना हो जाता. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. खैर आपको बता दें की अयोध्या में बनाये जाने वाले राम मंदिर को दुनिया का सबसे ऊंचा और भव्य मंदिर बनाया जायेगा. फिलहाल आप सभी को बाबा जी की राम राम.