आखिर क्यों पानी को बचाना इतना ज़रूरी हो गया है आज के समय में.

आखिर क्यों पानी को बचाना इतना ज़रूरी हो गया है आज के समय में.

जिस पानी को हम इस्तेमाल करतें हैं वह पृथ्वी के सतही जल की कुल मात्रा का केवल 0.5 प्रतिशत ही होता है.

आज के समय में दुनिया भर में पानी को बचाना और संरक्षित करना सबसे ज्यादा ज़रूरी हो गया है. और दुनियाभर में 1.6 प्रतिशत पानी ज़मीन के नीचे है और 0.001 प्रतिशत वाष्प और बादलों के रूप में है. पृथ्वी की सतह पर जो पानी है उसमें से 97 प्रतिशत सागरों और महासागरों में है जो नमकीन है और पीने के काम नहीं आता. और जो पानी हम पीने के लिए इस्तेमाल करते हैं उस पानी का मात्र 3 प्रतिशत हिस्सा ही हमारी प्रथ्वी पर मौजूद है. और इसमें भी हम उस पानी को सबसे ज्यादा बर्बाद करते हैं जो पानी हमारे पीने के काम आता है. ऐसी स्तिथि में पानी को बचाना सबसे ज्यादा ज़रूरी है. लेकिन यही बात हम सभी समझ नहीं पाते और पानी कि बर्बादी बिना सोचे समझे करते रहेते हैं जो कि हमारे बहतर भविष्य के लिए सही नहीं है या यूँ समझा जाये कि जल नहीं तो कल नहीं.

आखिर हमारी पृथ्वी पर कितना जल है?
पृथ्वी की सतह लगभग 75 प्रतिशत जल से भरी है. लेकिन इसका 97 प्रतिशत समुद्रों में है और पृथ्वी का केवल 3 प्रतिशत जल ही पीने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. अगर बात करीं तो वहीं, इसका अधिकतर हिस्सा या तो धुवीय हिम-टोप के रूप में जम जाता है या फिर मिट्टी में मिल जाता है. और हम जो पानी इस्तेमाल करते हैं वह पृथ्वी के सतही जल की कुल मात्रा का केवल 0.5 प्रतिशत ही होता है.

पानी को बचाना ज़रूरी है पर कैसे?                                                                                                                                                                    

हाँ ये बात सही है की पानी को बचाना ज़रूरी है लेकिन सवाल यह उठता है की आखिर कैसे पानी को बचाया जा सके. तो चलिए हम कुछ उपचारों कि बातें करते हैं जिनके बारे में हम हमेशा बात करतें हैं. अगर हम ज़रूरत के हिसाब से ही पानी का इस्तेमाल करें तो हम शायद ज्यादा न सही लेकिन कुछ मात्र में पाणी को बचा सकते हैं, हाँ ये बात सुच है की हम इन्सान मिलकर इस धरती का सारा पीने वाला पानी नहीं बचा सकते. लेकिन कुछ मात्र में हम इसको सही तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं.

  • वाटर-फ़िल्टर से निकलने वाला पानी फेके नहीं बल्कि पेड-पोधों के लिए उसे इस्तेमाल करें.
  • ज्यादातर हम पानी अपनी लापरवाही की वजह से बर्बाद करतें है इसलिए पानी के नालों को ध्यान से देख कर बंद करें. अगर नाल खराब हो तो तुरंत प्लम्बर को बुलवाकर उसको सही करें ताकि टपकता हुआ पानी रोका जा सके.
  • बारिश के पानी को बचाने की आदत बना ले. और रेन वाटर हार्वेस्टिंग को अपने घरों में ज़रूर लगवाए.
  • खेती के लिए मौसम की बारिश का इस्तेमाल करें. ताकि फसल के अंकुरण तक पानी की ज़रूरत न पड़े.
  • पीने के अलावा साफ़ पानी का इतेमाल (यानि मीठे पानी को) किसी और काम के लिए प्रयोग में न लाये.

यह छोटे छोटे उपायों को अगर हम अपनी रोज़ की दिनचर्या में इस्तेमाल करतें है तो हम पीने वाले साफ पानी को ज्यादा से ज्यादा बचा सकते हैं. चलिए हम सभी ख़ुद से यह प्रोमिस करते है. पाने को पीने के लिए भविष्य को देते हैं. सुरक्षित रहेगी हमारी आने वाली पीडी और बहतर होगा हमारा कल. 

Email Us: [email protected]                                                                                                                                                    आप भी अघोरी बाबा के लिए लिख सकते हैं. किसी भी सामाजिक या संस्कृतिक विषय के ऊपर. अपना लेख आप हमें मेल कर सकते है.